धर्मकर्म से किया नवसंवत्सर का स्वागत

गाडरवारा। रविवार से हिंदू नव वर्ष एवं चैत्र नवरात्रि का आरंभ हो गया। लोगों ने पूजा पाठ एवं धर्म कर्म से नव संवत्सर एवं नवरात्रि का स्वागत किया। इस अवसर पर प्रात:काल से नगर के समस्त देवी मंदिरों में श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ती रही। माता रानी की प्रतिमाओं पर जल ढार कर अपनी कृतज्ञता ज्ञापित की। वहीं पूजापाठ पर भी जोर रहा, सर्वाधिक श्रद्धालु नगर के प्राचीन खेरापति मंदिर में उमड़े। जिनमें महिलाओं की संख्या सबसे अधिक रही, इसके अलावा स्थानीय बीजासेन मंदिर हिंगलाज, सिंहवाहिनी, बंजारी माता, शक्तिधाम, इंदिरा कॉलोनी, दुर्गा मंदिर सहित कांच मंदिर एवं रेलवे स्टेशन के देवी मंदिर आदि में प्रात: काल से अपरान्ह तक श्रद्धालु पहुंचते रहे। स्थानीय शक्तिधाम मंदिर में नवरात्रि की पूर्व संध्या पर बैठक आयोजित की गई। जिसमें सर्वसम्मति से जवारे स्थापित करने का निर्णय लिया गया एवं रविवार को जवारे स्थापना की तैयारियां होती रहीं। चैत्र नवरात्रि के चलते मंदिरों के अलावा लोगों ने अपने घरों में भी श्रद्धा भक्ति से मातारानी का पूजन अर्चन किया। घरों में कलश स्थापना की गई। इसके अलावा अनेक लोग अपने घरों में भी जवारे स्थापित करते हैं, इसकी भी तैयारी होती रही। अब पूरे नवरात्रि पर्यंत धर्मकर्म पर जोर रहेगा एवं हर गुजरते दिन के साथ लोगों की आस्था भक्ति जोर पकड़ेगी।
तरुण विद्यार्थी शाखा का वर्ष प्रतिपदा संपन्न
रविवार को प्रात:काल संघ की महाराणा प्रताप तरुण विद्यार्थी शाखा में वर्ष प्रतिपदा उत्सव का कार्यक्रम संपन्न हुआ। जिसमें 17 तरुण, 09बाल कुल 26 स्वयंसेवकों की उपस्थिति रही। कार्यक्रम में बौद्धिक के लिए नागेश जी नगर विस्तारक का मार्गदर्शन प्राप्त हुआ।
सर्वब्राम्हण महासभा का पंचांग पूजन संपन्न
नवसंवत्सर के शुभावसर पर रविवार को सर्व ब्राह्मण महासभा तहसील गाडरवारा ने खकरिया वाले दादाजी के मंदिर में भगवान श्री परशुराम, आदिगुरू शंकराचार्य एवं पंचांग का विधिविधान से पूजन किया। इस अवसर पर विप्र बंधुओं ने उपस्थित होकर षोडशोपचार से पूजन किया। जिसमें बड़ी संख्या में सामाजिक जनों की सहभागिता रही।

Go to Source
Author:

Leave a Reply